श्रीमद्भ भगवद गीता का अदभुत रहस्य तथा तनाव मुक्ति एवं शांति हेतु राजयोग अनुभूति शिविर

ब्रह्माकुमारी सूरत मजुरागेट सेवाकेन्द द्वारा 4 दिवसीय  श्रीमद्भ  भगवद गीता  का अदभुत रहस्य तथा  तनाव मुक्ति एवं शांति हेतु राजयोग अनुभूति शिविर’ का आयोजन किया गया I कार्यक्रम का उद्घाटन सूरत सिटी के मेयर श्रीमती अस्मिता बेन सिरोया ने दीप प्रज्ज्वलन तथा शिव ध्वज लहराकर किया I उद्घाटन समारोह में शहर के १००० से ज्यादा लोगों ने भाग लिया I

मजुरागेट  सेवाकेंद्र  संचालिका आदरणीया बीके सोनल दीदी ने सभी का स्वागत करते हुए कहा की गीता समस्त मानवजाती के लिए अनमोल उपहार है जिसका अद्भुत रहस्य समजकर उसको व्यावहारिक जीवन में अप्लाय करने से सच्चा सुख और ख़ुशी की अनुभूति होगी |

श्रीमती अस्मिता बेन सिरोया ने कार्यक्रम के दौरान माउंटआबू से आई हुईं राजयोगिनी बी के उषा दीदी को  सुरत शहर की जनता के तरफ से सम्मानित किया और ब्रह्माकुमारी संस्थान की देश एवं विदेश में शांति  फैलाने के अथक प्रयासों की भूरि-भूरि प्रशंसा की I इसके अलावा मेयर श्री ने कहा की अगर हम भगवान की याद में अपना हर कार्य करें तो कार्य अच्छे ढंग से सफल होंगे तथा हल्के महसूस होंगे I उद्घाटन समारोह में सूरत महानगरपालिका के स्थाई समिति के अध्यक्ष श्री राजेश भाई देसाई तथा ऑटोमोटिव टेक्नो प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर पारितोषभाई ने भी भाग लिया और अपनी शुभेच्छाए प्रगट की

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता आदरणीया बी के उषा दीदी ने सभी दिनों में शाम के सेशन में श्रीमद्भ भगवद्गीता के अदभुत रहस्यों को स्पष्ट किया  और भगवान द्वारा मानव रूपी अर्जुन को दिए गए ज्ञान का बहुत सरल तरीके से वर्णन किया I  सुबह के सेशन में तनावमुक्ति एवं शांतिपूर्ण जीवन जीने की कला का मार्ग बतायाI दीदी ने श्रोताओं को राजयोग की विधि और उससे होने वाले फायदों पर विस्तृत चर्चा की I

प्रतिदिन लगभग हजारो की संख्या में लोगों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया एवं गीता प्रवचन तथा राजयोग के विधियों की अनुभूति की I कार्यक्रम के अंत में शहर के प्रख्यात व्यक्तियों ने बी के सोनल दीदी एवं बी के उषा दीदी को  फूलहार पहनाकर तथा मोमेंटो भेंट कर सम्मानित किया I प्रतिदिन कार्यक्रम के बाद सभी ईश्वरीय वरदान एवम प्रसाद पाकर भाव विभोर हो गये |

उषादीदी के द्वारा अमृतवाणी सुनने के बाद सभी श्रोता बहुत उत्साहित हैंI कार्यक्रम के बाद मजुरागेट सेवाकेन्द्र पर ज्ञानयोग शिविर का भी आयोजन किया गया है, जिसमें बहुत सारे श्रोतागण भाग लेने जा रहे हैंI